लक्ष्य क्या है, इसका महत्व क्या है | What is Goal

लक्ष्य का अपने आप में बहुत बड़ा महत्व होता है, हर किसी के अपने सपने होते हैं और हर कोई चाहता है कि मेरा सपना पूरा हो और वह अपना सपना पूरा करने के लिए मेहनत भी करता है, जीवन किसी भी मनुष्य के लिए आसान नही होता है, ज़िंदगी के हर मोड़ पर संघर्ष का सामना करना ही पड़ता है।

चाहे वह कोई महान व्यक्ति ही क्यों ना हो, उन्हें भी अपनी महानता की कीमत अवश्य अदा करनी पड़ी है। जीवन में बिना लक्ष्य के काम करने वाले लोग हमेशा सफलता से दूर रह जाते हैं।

हर व्यक्ति जानता है, कि जीवन जीना इतना आसान नहीं है, उसे जीवन के हर एक पड़ाव पर चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा, लेकिन जीवन को आसान बनाया जा सकता है, बस जरूरत है, तो एक सोच की एक दृढ़ निश्चय की।

अगर आप अपना लक्ष्य निर्धारित करते हैं और निश्चिंत होकर अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते हैं, तो आपके जीवन में आने वाली सभी बाधाएं स्वयं ही दूर हो जाएंगी।

लक्ष्य क्या होता है :

लक्ष्य एक ऐसा कार्य है, जिसे हम सिद्ध करने की मंशा रखते हैं। एक सुंदर भविष्य की कामना करना तथा उसे पूरा करने के लिए निरंतर प्रयास करते रहना ही लक्ष्य कहलाता है। यह आप पर निर्भर करता है कि आप अपने लक्ष्य के प्रति कितना समर्पित हैं और अपने लक्ष्य को पाने के लिए आप कितना प्रयास कर रहे हैं।

चलिए इसे हम कुछ उदाहरण द्वारा समझते हैं, अगर एक छात्र पढ़ाई कर रहा है तो उसका यह लक्ष्य हो सकता है कि वह परीक्षा में 99% नंबर लेकर आए। अगर एक टीचर क्लास में पढ़ा रहा है तो उसका यह लक्ष्य होगा कि मेरे सभी स्टूडेंट्स एग्जाम में अच्छे नंबरों से पास हो।

lakshya kaise prapt kare

अगर एक किसान खेती कर रहा है तो उसका यह लक्ष्य हो सकता है कि मेरी फसल बहुत ही अच्छी हो। एक समाज सेवक का लक्ष्य हो सकता है कि उसके गांव के सभी लोग साक्षर हो। एक जॉब कर रहे व्यक्ति के लिए मेहनत करके प्रमोशन पाना उसका लक्ष्य हो सकता है।

अपने लक्ष्य को कैसे हासिल करें :

जब भी हम अपने लक्ष्य के बारे में सोचते हैं तो हमें यह लगता है कि हम इसे हासिल कैसे करेंगे हम अपने लक्ष्य तक कैसे पहुचेंगे? मैं मानता हूं दोस्तों लक्ष्य को पाना इतना आसान नहीं है लेकिन मुश्किल भी नहीं है।

दृढ़ निश्चय :

अगर हमारे अंदर अपने लक्ष्य के प्रति दृढ़ निश्चय है तो हम अपने लक्ष्य को अवश्य ही प्राप्त कर लेंगे। केवल लक्ष्य ही नहीं किसी भी कार्य को करने के लिए हमारे अंदर दृढ़ निश्चय होना जरूरी है इसके बिना हम किसी भी कार्य को संपूर्ण रूप से नहीं कर सकते।

किसी भी कार्य को करने से पहले सोचिये और विचार कीजिये :

आप कोई भी कार्य कर रहे हो सबसे पहले उसके बारे में सोच विचार करें कोई भी कार्य बिना सोच-विचार के करने से वह कार्य पूरा नहीं हो पाता और कई बार हम उस कार्य को बीच में ही छोड़ देते हैं यदि आप किसी कार्य को करने से पहले उसके बारे में सोच लेते हैं तो आगे उस कार्य को करने में आसानी भी होती है और उस कार्य में आप अवश्य ही सफल हो जाएंगे।

धैर्य बनाए रखना :

धैर्य, यह एक ऐसा शब्द है जिसको हम अपने जीवन से जोड़ लेते हैं तो हमें कोई भी नहीं हरा सकता। अगर आपको अपना लक्ष्य प्राप्त करना है तो आपके अंदर धैर्य अवश्य ही होना चाहिए।

हम सब कुछ एक दिन में ही प्राप्त नहीं कर सकते लेकिन एक दिन जरूर प्राप्त कर सकते हैं आप केवल अपने लक्ष्य को पाने के लिए धीरे-धीरे ही सही मगर चलते रहिए। जल्दबाजी में किए गए कार्य मैं कभी भी सफलता नहीं मिलती।

अपने समय का सही उपयोग करना :

हमारे जीवन में सबसे मूल्यवान चीज अगर कुछ है तो वह है समय। हमारे जीवन में समय बहुत ही सीमित है अगर हम इसका दुरुपयोग करने लगे तो सफलता निश्चित हमसे दूर हो जाएगी।

समय अगर एक बार हाथ से निकल गया तो हम उसे दोबारा हासिल नहीं कर सकते। कोई भी कार्य यदि समय पर किया जाए तो ही उसका महत्व रहता है हमेशा यह प्रयास करें कि हम जो भी कार्य कर रहे हैं उसे समय पर करें।
सही दिशा का चुनाव करें

जब भी आप घर से निकलते हैं तो आप को पता होता है कि मुझे कहां जाना है मान लीजिए अगर आपको पता ही नहीं कि मुझे जाना कहां है, तो आप क्या करेंगे? आप भटकते रहेंगे ठीक इसी प्रकार यदि आप अपना लक्ष्य निर्धारित नहीं करते हैं तो आप भटकते ही रहे रह जाएंगे और बाद में आपके पास पछताने के अलावा और कोई विकल्प नहीं रहेगा इसलिए अपने लक्ष्य के लिए परिश्रम करें और उसके लिए सही दिशा चुनें।

एक निश्चित लक्ष्य को चुनिए :

सफल होने के लिए जो एक बात अत्यंत महत्वपूर्ण है वह है लक्ष्य की निश्चित्ता। हमें क्या चाहिए इसकी निश्चित और स्पष्ट जानकारी, क्योंकि उसके बिना बाकी सब कोशिशें व्यर्थ हैं लक्ष्य की स्पष्टता सबसे महत्वपूर्ण बात है, जो लोग बहुत असरदार तरीके से काम करते हैं उसका प्रमुख कारण यही होता है कि उनका उद्देश्य उनके सामने पूरी तरह साफ होता है

 जो लोग सफल होते हैं वे एक निश्चित उद्देश्य को सामने रखकर मेहनत करते हैं आपको वास्तव में क्या चाहिए यह पता ही ना हो तो वह मिलेगा कैसे? निश्चित मंजिल सामने ना हो तो जाएंगे कहा? और फिर भी कोई जाए तो पहुंचेगा कहां?

समुद्र यात्रा करने वालों निकले हर जहाज के कप्तान को पता होता है कि उसे कहां जाना है इसलिए सामने इच्छित ठिकाना कई बार दिखाई ना दिखने पर भी वह बढ़ता जाता है और अपने मुकाम पर पहुंच जाता है।

बहुत से लोग अपने लक्ष्य के प्रति गंभीर नहीं होते वह केवल दूसरों को देख कर अपना लक्ष्य चुनते हैं वह सोचते हैं कि उसने ऐसा किया तो वह सफल हो गया मैं भी ऐसे ही करूंगा तो सफल हो जाऊंगा लेकिन आप यह नहीं सोचते कि जब आपकी उस चीज में रुचि है ही नहीं तो आप सफल कैसे होंगे?

 अगर हमें जीवन में सफल होना है तो हमें अपने रास्ते स्वयं ही बनाने पड़ेंगे और स्वयं ही उन पर चलना भी पड़ेगा। दिमाग में अगर लक्ष्य साफ हो तो उसे पाने के रास्ते भी साफ नजर आने लगते हैं इसलिए अपना एक निश्चित लक्ष्य रखिए।
योजना बनाइए।

बिना योजना के किया गया कोई भी कार्य सफल नहीं हो पाता इसलिए आप जब भी कोई कार्य करते हैं या करने जा रहे हैं तो उसके लिए पहले से योजना बनाकर रखी है अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए योजना बनाइए और निरंतर डटे रहिए।
अपनी सोच को सकारात्मक रखिए।

अगर आप अपने मन में सकारात्मक सोच रखते हैं तो आप कभी भी अपने लक्ष्य से नहीं भटकेंगे। आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निरंतर प्रयास करते रहेंगे और आप कभी भी Demotivate नहीं होंगे।

अपना लक्ष्य निश्चित करने से क्या मिलेगा :

अगर आप अपना लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं तो आपकी अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्रता बनी रहेगी। यदि आपने अपना लक्ष्य निर्धारित कर लिया है तो आप अपने लक्ष्य से नहीं भटकेंगे और आपके मन में अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की इच्छा बनी रहेगी और आपका दिमाग दूसरी बातों में नहीं जाएगा क्योंकि आपको पता रहेगा की मुझे क्या करना है

 मान लीजिए अगर आपको एक धनुष बाण दे दी जाए और आपको यह ना बताया जाए कि तीर कहां चलानी है तो आप क्या करेंगे इसी प्रकार बिना लक्ष्य के किया गया कार्य व्यर्थ ही रहता है।

लक्ष्य आपको प्रेरित करेगा :

जब भी आप सुबह उठते हैं और अपने काम को करने में जुट जाते हैं तो वह लक्ष्य ही होता है जो आपको वह काम करने के लिए प्रेरित करता है। आपका लक्ष्य आपको और आपके जीवन को खुशियों से समृद्धि बनाए रखता है।

जीवन तो हर कोई भी देता है जानवर भी अपना जीवन जी लेते हैं लेकिन अगर हम केवल अपना जीवन ही जी रहे हैं तो हमारे मनुष्य होने का क्या फायदा है जीवन तो जानवर भी जी रहे हैं हमारे जीवन का एक लक्ष्य होना चाहिए और लक्ष्य ऐसा होना चाहिए जिससे हमारे जीवन के महत्त्व की पहचान हो।

यदि आपको आगे चलता है आज से अच्छा जीवन जीना है तो आपको अपना लक्ष्य निर्धारित करना ही होगा बिना लक्ष्य निर्धारित किए आप जीवन में कभी सफल नहीं हो सकते। यदि आप अपना एक लक्ष्य निर्धारित करके रखते हैं तो आप निश्चित ही उसे पाने के लिए प्रयास करेंगे उसके लिए निरंतर कार्य करते रहेंगे।

अंतिम शब्द :

ईश्वर द्वारा मनुष्य में दिया गया एक श्रेष्ठ गुण है की अगर आपको कुछ चाहिए तो आप उसे पाने के लिए मेहनत जरूर करते हैं ठीक इसी प्रकार यदि आपने अपना एक लक्ष्य निर्धारित कर रखा है तो आप उसे प्राप्त करने के लिए परिश्रम जरूर करेंगे।

मैं उम्मीद करता हूं कि आपको हमारे विचार पसंद आए होंगे आपको हमारे यह विचार अच्छे लगे तो इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें यदि आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Share Post👇
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment