Mumbai saga real story in Hindi 

'मुंबई सागा' की कहानी असल जिंदगी में गैंगस्‍टर DK Rao की कहानी पर आधारित है। 

वो डीके राव जो पुलिस एनकाउंटर में 3 बार जिंदा बच गया था और आज भी जेल में बंद है। 

डीके राव अपनी जिंदगी के  23 साल जेल में बीता चुका है।

मुंबई सागा' एक फिल्‍म है, इसलिए इसकी कहानी में कल्‍पनाओं की पूरी आजादी है। 

DK Rao एक समय में आधी मुंबई पर राज करता था डीके राव, कभी छोटा राजन का दाहिना हाथ समझा जाता था।

डीके राव का एक नाम रवि मल्‍लेश वोरा भी है। मुंबई के माटुंगा इलाके के चॉल में रवि मल्‍लेश वोरा का जन्‍म हुआ। 

80 के दशक में जब मुंबई आधुनिकता के रेस में आगे बढ़ रही थी, तभी रवि मल्‍लेश भी डीके राव बन रहा था। 

वह अंडरवर्ल्ड की दुनिया का शायद इकलौता ऐसा अपराधी है, जिसका पुलिस के साथ 3 बार एनकाउंटर हुआ और वह तीनों बार जिंदा बच गया।

मुंबई के एक सुपरकॉप डी शिवानंदन ने एक एनकाउंटर में राव को ढेर करने की कोश‍िश की थी। लेकिन 7 गोलियां लगने के बावजूद उसकी जान बच गई।

जुलाई 2016 में उसे जेल से रिहा कर दिया गया था। बताया जाता है कि डीके राव राजनीति की दुनिया में भी कदम रखना चाहता था। लेकिन जेल और बेल के चक्‍कर में बात नहीं बनी।

READ MORE STORIES

Click Here