सूचना प्रौद्योगिकी पर निबंध | Essay on information technology in Hindi

नमस्कार, आज हम सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology in Hindi) के बारे में जानने वाले हैं।  सूचना प्रौद्योगिकी को Information Technology भी कहा जाता है। काफी समय पहले से ही मनुष्य ने कई ऐसे उपाय खोज निकाले जिससे वह किसी दूर बैठे व्यक्ति से संपर्क कर सकता है।
 

प्राचीन काल में व्यक्ति अपना संदेश किसी दूर बैठे व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए कबूतरों का उपयोग करता था कबूतर ने भी संवाद वह की भूमिका मुख्य रूप से निभाई है।

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) के क्षेत्र में काफी ज्यादा विकास हो चुका है।
सूचना प्रौद्योगिकी आज के समय में और बढ़ते समय के साथ बहुत बड़ा उद्योग बनते जा रहा है।

सूचना प्रौद्योगिकी देश के कई क्षेत्रों में पूरी तरह विकसित हो चुका है और इसने एक सफल भूमिका निभाई है इसके लिए आप अमेरिका और जापान जैसे देश को देख सकते हैं यह सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काफी ज्यादा सफल हो चुके हैं और काफी ज्यादा विकसित देश बन चुके हैं।

चलिए अब सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) के बारे में विस्तार से जानते हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी | Information Technology In Hindi

आज के इस युग को यानी वर्तमान युग को सूचना प्रौद्योगिकी यानी Information Technology के नाम से जाना जाता है।
आज के समय में सूचना प्रौद्योगिकी का हमारे जीवन में व्यावसायिक तथा सामाजिक आवश्यकता की दृष्टि से विशेष महत्व है।

सूचना प्रौद्योगिकी की सहायता से एक स्थान से दूसरे स्थान पर कम से कम समय में सूचनाओं का आदान प्रदान किया जा सकता है।

विज्ञान ने इस आवश्यकता को पूरा करने में सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
अगर हम बात करें आज से कुछ समय पहले की तो उस समय सूचनाओं का आदान प्रदान करने के लिए केवल टेलीफोन का ही प्रयोग किया जाता था मतलब कोई व्यक्ति अपनी सूचनाओं को दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए टेलीफोन माध्यम का प्रयोग कर सकता था।
 लेकिन बदलते समय के साथ हमारी सूचना प्रौद्योगिकी विकसित हुई और फिर टैलेक्स, फैक्स, फेजर, कंप्यूटर आदि सूचना संसाधनों का आरंभ हुआ।
इसके बाद से सूचनाओं का आदान-प्रदान काफी ज्यादा सरल और सुखमय हो गया।

लेकिन यह केवल यहीं तक सीमित नहीं रहा, इसके कुछ समय पश्चात इंटरनेट का आरंभ हुआ और इंटरनेट के प्रयोग ने तो सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में क्रांति के क्षेत्र में क्रांति ही ला दी।

Information technology in hindi
Information technology in hindi
और इंटरनेट ने तो सभी कार्यों को इतना आसान बना दिया कि कोई भी व्यक्ति घर पर बैठे ही अपने सभी काम कर सकता था।
आजकल इंटरनेट, ईमेल, मोबाइल फोन, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और भी कई सारी सुविधाओं के प्रयोग ने मानव जीवन को अत्यधिक सरल बना दिया है।

कंप्यूटर: एक वरदान

कंप्यूटर आज के समय में हमारे लिए एक वरदान से कम नहीं है कंप्यूटर के द्वारा ही सूचना प्रौद्योगिकी विकसित हो पाई है यदि कंप्यूटर ना हो तो सूचना प्रौद्योगिकी का कोई अर्थ ही नहीं है।

 आज सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) की समस्त क्रियाएं कंप्यूटर के माध्यम से स्वचालित रूप से की जा सकती हैं।
इसीलिए कंप्यूटर इसके लिए वरदान सिद्ध हुआ है। प्रारंभ में कंप्यूटर का प्रयोग वैज्ञानिक संस्थानों और विद्यालयों तक ही सीमित था उस समय कंप्यूटर का प्रयोग किसी विशिष्ट उद्देश्य की पूर्ति के लिए ही किया जाता था लेकिन बदलते समय के साथ धीरे-धीरे इसकी जरूरत हर एक व्यक्ति को पढ़ने लगी क्योंकि वह इसके द्वारा अपने कार्य को और भी सरल बना सकता था इसलिए जब कंप्यूटर का व्यवसाय प्रयोग बढ़ा तो कंप्यूटर सामान्य सभी के कार्यों में प्रयोग किया जाने लगा।

 वर्तमान में कंप्यूटर एक ऐसा यंत्र है जो जीवन के सभी क्षेत्रों में कार्य कर रहा है।
वर्तमान में कंप्यूटर का प्रयोग सभी बैंक, अस्पताल प्रयोगशाला अनुसंधान केंद्र विश्वविद्यालय एवं कई क्षेत्रों में किया जाता है आज के समय में शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र बचा हो जहां कंप्यूटर का प्रयोग ना हो रहा हो।

आज के समय में कंप्यूटर संसार का एक महत्वपूर्ण साधन बन गया है कंप्यूटर नेटवर्क के माध्यम से देश के प्रमुख स्थानों को एक दूसरे के साथ जोड़ दिया गया है।

अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में तो कंप्यूटर ने कमाल ही कर दिखाया है कंप्यूटर की सहायता से करोड़ों मील दूर अंतरिक्ष में स्थित ग्रहों, उल्काओं, धूमकेतु और आकाशगंगाओं के चित्र लिए जा सकते हैं। और इन चित्रों का विश्लेषण भी कंप्यूटर द्वारा ही किया जा रहा है।
और सुरक्षा के दृष्टिकोण से उन पर सदैव नजर रखी जा सकती है।
कंप्यूटर के माध्यम से आज संसार के किसी भी क्षेत्र में हो रहे अनुसंधान एवं प्रयोगों के बारे में किसी भी कक्ष में बैठे व्यक्ति को पलक झपकते ही इंटरनेट के माध्यम से उसकी जानकारी प्राप्त हो जाती है।
 कंप्यूटर के माध्यम से भवनों, मोटर गाड़ियों, हवाई जहाज आदि के डिजाइन आसानी से तैयार किए जा रहे हैं।
सबसे मुख्य बात यह है कि कंप्यूटर के द्वारा आज के समय में कुछ ऐसे कंप्यूटर रोबोट तैयार कर दिए गए हैं जो औद्योगिक क्षेत्र में अत्यधिक जान जोखिम वाले कार्यों को बिना कोई जोखिम उठाएं सफलतापूर्वक कर सकते हैं।
 जहां किसी कार्य को 100 व्यक्ति एक साथ मिलकर करते हैं वही कंप्यूटर रोबोट उस कार्य को अकेला ही कर सकता है जिससे उस कार्य को आसानी से और बिना जोखिम के और सबसे महत्वपूर्ण बात बिना ज्यादा समय लगाएं किया जा सकता है।

आज की मिसाइलें मानव रहित विमान आदि सब कंप्यूटर के ही तो परिणाम है कंप्यूटर से मानव जीवन को अत्यधिक सरल बना दिया है।

सूचना प्रौद्योगिकी की सामाजिक आवश्यकता

सूचना प्रौद्योगिकी(Information Technology) समाज के लिए कितना आवश्यक है इसका अंदाजा हम इस बात से लगा सकते हैं कि आज जीवन का कोई भी क्षेत्र इससे दूर नहीं है जन्म से ही सूचना प्रौद्योगिकी हमारी एक–एक सांस से जुड़ी है यहां तक कि हमारे रहन सहन खानपान एवं व्यापार उद्योग आदि भी सूचना प्रौद्योगिकी से जुड़े हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है। जिस समाज में सूचना का प्रसार एवं प्रचार अधिक है वह समाज उतना ही अधिक उन्नत और विकसित है आप दुनिया के कुछ बड़े देशों को देख सकते हैं जैसे जर्मनी, अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन यह देश सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काफी ज्यादा विकसित देश है।

सूचना प्रौद्योगिकी के सकारात्मक प्रभाव

सूचना प्रौद्योगिकी मानव जीवन के हर निर्णय को आसान बना दिया है आज सूचना प्रौद्योगिकी का मानव जीवन में एक महत्वपूर्ण और अनोखा ही महत्व है।

विश्व स्तर पर लाभ —

विश्व स्तर पर सूचना प्रौद्योगिकी का काफी ज्यादा महत्व है। वर्तमान युग को सूचना प्रौद्योगिकी यानी Information Technology भी कहा जाता है। विश्व स्तर पर सूचना प्रौद्योगिकी का बहुत बड़ा लाभ है, और विश्व स्तर पर सूचना प्रौद्योगिकी का लाभ व्यक्तियों, समुदायों, संघों, कंपनियों एवं अनेक प्रकार के राष्ट्र को भी प्राप्त हो रहा है।

 आज मोबाइल, इंटरनेट, फैक्स, ईमेल आदि सुविधाओं का प्रयोग करके आवश्यक जानकारियों एवं सूचनाओं को पलक झपकतेे ही कुछ ही पलोंं मे संसार के एक कोने से दूसरेे कोने में भेजा जा सकता है और पल भर में ही किसी भी सूचना को संसार के किसी भी कोने से प्राप्त किया जा सकता है।

निर्णय लेने में सहायक—

  सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) की सहायता किसी भी व्यवसाय में उसको चलाने वाला या उससे संबंधित किसी भी व्यक्तियों द्वारा आर्थिक एवं आनुपातिक निर्णय सही समय पर लिए जा सकते हैं, जिसका परिणाम यह होगा कि भविष्य में होने वाली त्रुटियों तथा हानियों से सुरक्षा प्राप्त हो जाती है और उससे कोई जोखिम भी नहीं होता। सूचना प्रौद्योगिकी का निर्णय लेने में भी काफी ज्यादा योगदान है।
 

कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान करना—

  सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) का कर्मचारियों के लिए भी काफी ज्यादा योगदान है और यह उनके लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण भी है क्योंकि सूचना प्रौद्योगिकी के अंतर्गत किसी भी संस्थान के कर्मचारियों को कंप्यूटर कार्य का प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है उन्हें इसके बारे में संपूर्ण रूप से प्रशिक्षित किया जाता है और जब वह प्रशिक्षित हो जाते हैं तो उन्हें  विशेष कार्य सौंप दिए जाते हैं क्योंकि कर्मचारी कंप्यूटर का उपयोग जितनी अधिक कुशलता से करेंगे वह संस्थान के लिए उतना ही अधिक उपयोगी माना जाएगा।
 

कर्मचारियों का रिकॉर्ड रखने मददगार—

किसी भी संस्थान में कर्मचारियों का रिकॉर्ड रखने के लिए यह बहुत मददगार साबित हुआ है। किसी संस्थान में कर्मचारियों का रिकॉर्ड बनाए रखें के लिए डेटाबेस को इस प्रकार बनाया गया है कि वह विभिन्न कर्मचारियों के संबंध में आवश्यक जानकारियों का रिकॉर्ड रख सकें। इससे फायदा यह होगा कि आवश्यकता पड़ने पर कार्य कुशल लोगों से विशेष कार्यों को सफलतापूर्वक संपन्न कराया जा सके।

लिखित कार्य में कमी –

कंप्यूटर के आने के बाद लिखित कार्य में बहुत ज्यादा कमी देखने को मिली है। आज से कुछ समय पहले संस्थान में जिस कार्य को करने हेतु कई कर्मचारियों की नियुक्ति करनी पड़ती थी आज उस कार्य को केवल एक ही व्यक्ति कंप्यूटर की सहायता से कम से कम समय में पूरा कर सकता है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह हुआ है कि संस्थान पहले की तुलना में ज्यादा प्रतियोगी एवं गुणवत्ता वाले उत्पाद और सेवाएं कम खर्च में प्रदान कर सकते हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी के नकारात्मक प्रभाव

बेरोजगारी में वृद्धि—

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) का सबसे बड़ा नकारात्मक प्रभाव यह है कि इसके कारण लगातार बेरोजगारी बढ़ते ही जा रही है वर्तमान युग में किसी भी कार्यालय संस्था तथा उपक्रम में अधिकांश कार्य कंप्यूटर के द्वारा ही किए जाने लगे हैं जिस कार्य को पहले कई व्यक्ति मिलकर करते थे आज उस कार्य को केवल एक व्यक्ति कंप्यूटर पर कर देता है इस प्रकार बेरोजगारी में निरंतर वृद्धि होती जा रही है।

गोपनीयता का खतरा—

 कंप्यूटर में हम जो भी कार्य करते हैं या किसी भी प्रकार के फॉर्म इत्यादि हम भरते हैं तो वह सभी प्रकार के डेटाबेस कंप्यूटर में स्टोर रहते हैं जिसमें हमारी निजी जानकारियां बैंक इत्यादि की जानकारियां स्टोर रहती है उदाहरण के तौर पर कोई भी व्यक्ति कंप्यूटर में डेटाबेस के अंतर्गत इसकी सभी जानकारियां प्राप्त कर सकता है इसलिए कंप्यूटर में संग्रहित किए गए आंकड़ों पर गोपनीयता का खतरा बढ़ जाता है।

कंप्यूटर और केलकुलेटर की बढ़ती आदत–

आज के समय में अधिकांश से व्यक्ति कंप्यूटर एवं केलकुलेटर के आदी हो चुके हैं, कोई भी व्यक्ति स्वयं अपना दिमाग लगाकर कोई चीज जोड़ना या घटाना नहीं चाहता हर व्यक्ति कंप्यूटर या अपने स्मार्टफोन में ही जहां का उपयोग करके जोड़ना घटाना गुणा भाग कर लेता है जिस कारण बाद में उसको केलकुलेटर के अभाव में गणितीय क्रियाओं को करने में काफी परेशानी होती है इसलिए केलकुलेटर ने मानव जीवन में गणितीय क्रियाओं को आसान तो बनाया है लेकिन हमारे दिमाग में लगे केलकुलेटर की कार्य क्षमता को प्रभावित कर दिया है।

कंप्यूटर की बढ़ती आदत ने मानव जीवन को काफी प्रभावित किया है आजकल लगभग सभी व्यक्ति कंप्यूटर पर गेम क्विज आदि में अपना अधिकतर समय व्यतीत करते हैं कंप्यूटर चलाते समय वह प्राय वातानुकूलित कमरे में बैठे रहते हैं जिससे उन्हें इसकी आदत पड़ जाती है लेकिन शायद वह यह नहीं जानते कि यह सब उनके स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक हो सकता है।

कंप्यूटर में स्टोर डाटाबेस की सुरक्षा को खतरा—

आज के समय में लगभग हर व्यक्ति अपने बैंक अकाउंट को इलेक्ट्रॉनिक डाटा के रूप में रखते हैं धन राशि निकालने के लिए ग्राहकों द्वारा एटीएम कार्ड का प्रयोग किया जाता है इस प्रकार आज रिकॉर्ड कागजों में ना रखकर मैग्नेटिक माध्यम से कंप्यूटर में रखा जाता है यदि कंप्यूटर सिस्टम में वायरस आ जाए तो पूरा का पूरा डेटाबेस कुछ ही सेकंड में नष्ट किया जा सकता है यदि डेटाबेस का बैकअप नहीं रखा गया हो तो पूरे के पूरे रिकॉर्ड नष्ट हो जाते हैं इस प्रकार डाटा देश की सुरक्षा को सदैव खतरा बना रहता है।

निष्कर्ष—

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology in Hindi) के बारे में हिंदी जानकर आपको कैसा लगा हमें नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं यदि आपके इससे संबंधित कोई समस्या या सवाल है तो आप हमसे निश्चिंत होकर कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं हम आपके सवालों का जवाब अवश्य देंगे।

अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते हैं।

धन्यवाद!

4 thoughts on “सूचना प्रौद्योगिकी पर निबंध | Essay on information technology in Hindi”

    • Please कुछ aur mil sakta hai kya study करने को सूचना प्रौद्योगिकी पर

      Reply
      • जी जरूर, हम जल्द ही इसके बारे में और जानकारियां अपने इस ब्लॉग पर साझा करेंगे हमारे ब्लॉग से बने रहें, धन्यवाद

        Reply

Leave a Comment